Top 10 Jungle Ki Kahani जंगल की कहानी 2020

Jungle Ki Kahani:- Here I'm sharing the top ten Jungle Ki Kahani  For Kids which is very valuable and teaches your kids life lessons, which help your children to understand the people & world that's why I'm sharing with you.

Top 10 Jungle Ki Kahani

यहां मैं बच्चों के लिए हिंदी में नैतिक के लिए शीर्ष कहानी साझा कर रहा हूं जो बहुत मूल्यवान हैं और अपने बच्चों को जीवन के सबक सिखाते हैं, जो आपके बच्चों को लोगों और दुनिया को समझने में मदद करते हैं इसलिए मैं आपके साथ हिंदी में नैतिक के लिए कहानी साझा कर रहा हूं।

Top 10 Jungle Ki Kahani for Kids

अच्छाई का फल
समझदार भेड़
चालाक बिल्ली और समझदार मुर्गियाँ
अंगूठी की खोज
उल्लू और समुद्री चिड़िया
दो बहनें
बहादुर राजकुमार अमर सिंह
चतुर अंगूठा
कुत्ता और मुर्गा
दो कुत्ते


1. अच्छाई का फल Jungle Ki Kahani In Hindi 

Jungle Ki Kahani In Hindi

बहुत समय पहले की बात है, एक लक्कड़हारा एक जंगल से गुजर रहा था। अचानक, उसकी नज़र एक पेड़ के नीचे, एक पिंजरे पर पड़ी। पास जाने पर उसे उस पिंजरे में एक चील दिखाई दी।

लक्कड़हारे को चील पर बहुत दया आई और उसने वह पिंजरा खोल कर उसे आजाद कर दिया। चील दूर आकाश में उड़ गई। कुछ दिन बाद वही लक्कड़हारा एक ऊँची पहाड़ी पर, एक चट्टान पर बैठकर अपना खाना खा रहा था।

उसी वक्त आकाश से एक चील आई और उसकी टोपी लेकर उड़ गई। हैरान लक्कड़हारा, उस चट्टान से नीचे उतर कर उसके पीछे भागा। जैसे ही वह पहाड़ी से नीचे उतरा,

उसे पहाड़ी से चट्टान के नीचे गिरने की बहुत तेज़ आवाज़ सुनाई दी। यह वही चट्टान था जिस पर वह बैठकर खाना खा रहा था। चील ने लक्कड़हारे की जान बचाकर उसे धन्यवाद दिया था।
Related:-



2. समझदार भेड़ For KidsKahani Jungle Ki


For KidsKahani Jungle Ki

एक बार, एक जंगल में एक भेड़िया रहता था। वह बहुत बूढ़ा हो गया था और बीमार भी था। बुढ़ापे और बीमारी के कारण वह कई दिनों से शिकार पर नहीं जा पाया था। उसकी हालत बहुत खराब थी।

एक दिन, उसने पास के तालाब में पानी पीती हुई एक छोटी भेड़ देखी। उसे देखकर भेड़िये के मुँह में पानी आ गया। भेड़िया उस छोटी भेड़ से बोला-"बेटी! मुझ पर एक उपकार करो।

मेरे लिए तालाब से थोड़ा पानी ला दो। तुम देख ही रहे हो मेरी तबीयत कितनी खराब है। अगर तुम मुझे थोड़ा पानी ला दो तो, मुझे थोड़ी ताकत मिल जाएगी और मैं अपना भोजन ढूंढ लूंगा।" छोटी भेड़ समझदार थी।

उसने जवाब दिया-"अगर मैं तुम्हारे लिए पानी लेकर तुम्हारे पास आयी तो तुम्हें भोजन ढूंढने की क्या ज़रूरत होगी।" ऐसा कह कर वह छोटी भेड़ वहाँ से भाग गयी।
Related:-

3. चालाक बिल्ली और समझदार मुर्गियाँ For Kids Jungle Ki Kahani


For Kids Jungle Ki Kahani

एक समय की बात है, एक आदमी के पास बहुत सारी मुर्गियाँ थीं। वह उनका बहुत ख्याल रखता था। मुर्गियों की सुरक्षा के लिए वह उनको दड़बे में रखता था। दुर्भाग्य से कुछ मुर्गियाँ बीमार हो गई।

मुर्गियों को बीमार देख वह आदमी डॉक्टर को लेने चला गया। एक बिल्ली थी, जो हमेशा से उन मुर्गियों को खाना चाहती थी उसने आदमी को मुर्गियों के लिए डॉक्टर का पता करते हुए सुना तो मौके का फायदा उठाने की सोची।

बिल्ली ने डॉक्टर जैसे कपड़े पहने और मुर्गियों के दड़बे का दरवाज़ा खटखटाने लगी। वह बड़ी ही मीठी आवाज़ में बोली-"प्यारी मुर्गियों! तुम सब कैसी हो? दरवाज़ा खोलो, मैं तुम्हारा इलाज करने आई हूँ।"

लेकिन मुर्गियाँ जान गई कि वह डॉक्टर नहीं, बल्कि एक बिल्ली थी। इसलिए मुर्गियों ने एक साथ जवाब दिया-"आपका बहुत-बहुत धन्यवाद! हम अब ठीक हैं,

आप यहाँ से चले जाओ तो हम और अच्छे हो जाएंगे।" किसी ने ठीक कहा है "बुद्धि, ताकत से बड़ी होती है।"
Related:-


4. अंगूठी की खोज Jungle Ki Kahani For Children


Jungle Ki Kahani For Children

एक बार एक राजा था, जिसके पास एक जादुई अंगूठी थी। दुर्भाग्य से वह अंगूठी खो गई। राजा ने घोषणा की-"जो भी उस अंगूठी को ढूंढकर लाएगा, उसके साथ मैं अपनी बेटी की शादी करूंगा।"

बहुत लोगों ने कोशिश की परंतु कोई भी सफल नहीं हुआ। तब एक युवक आया जिसके तीन अजीब दोस्त थे। उनमें से एक था तीव्रनेत्र जिसकी आँखें बहुत तेज़ थीं। दूसरा था भीमकाय जो पहाड़ जैसा दिखता था।

तीसरा था लम्बूदीन जो बहुत लंबा था और लेटे-लेटे कई किलोमीटर तक फैल सकता था। उन तीनों दोस्तों ने उसकी मदद करने का वादा किया था। तीव्रनेत्र ने अंगूठी समुद्र के तल में पड़ी हुई देखी।

भीमकाय ने समुद्र में गोता लगाया और अंगूठी को पानी के ऊपर ले आया। तब लम्बूदीन समुद्र में कूदा और भीमकाय के ऊपर खड़ा हो गया और अपनी पैरों की उंगलियों की मदद से अंगूठी को पकड़कर बाहर ले आया। इस तरह राजा को अंगूठी और युवक को राजकुमारी मिल गई।
Related:-


5. उल्लू और समुद्री चिड़िया In Hindi Jungle Ki Kahani With Birds


In Hindi Jungle Ki Kahani With Birds

बहुत समय पहले, एक उल्लू और एक समुद्री चिड़िया एक टापू में रहते थे। दोनों ने साथ मिल कर व्यापार करने का विचार किया। व्यापार के लिए पैसों की ज़रूरत थी।

इसलिए, उल्लू अपने मित्रों से पैसे उधार मांग कर लाया और समुद्री चिड़िया अपने कीमती गहने ले कर आई। व्यापार करने के लिए दोनों ने एक दूर का टापू चुना था। इसलिए दोनों एक जहाज में बैठकर, दूर के उस टाप की ओर चल पड़े।

लेकिन, बदकिस्मती से उनका जहाज डूब गया। उल्लू और समुद्री चिड़िया की जान तो बच गई, लेकिन उनके सब पैसे और जेवर समुद्र में डूब गए। उस दिन से, उल्लू केवल रात में ही बाहर निकलता है,

क्योंकि दिन में उसे अपने लेनदारों से डर लगता है। दूसरी तरफ उस दिन से ही समुद्री चिड़िया, समुद्र के ऊपर उड़ती रहती है, और समुद्र में खोए हुए अपने गहने ढूंढती है।
Related:-


6. दो बहनें Amazing Jungle Ki Kahani


Amazing Jungle Ki Kahani

एक बार, दो बहुत सुंदर और दयालु बहनें थीं। एक दिन, एक भालू उनके घर आया और बोला-“डरो नहीं! मुझे थोड़ी देर आग के पास बैठने दो।" उन्हें भालू पर दया आ गई। अब भालू रोज़ उनके घर आने लगा।

एक दिन भालू ने उनसे कहा-“मैं बौनों से अपना खज़ाना वापस लेने जा रहा हूँ।" कई दिन बीत गए लेकिन भालू लौटकर नहीं आया। दोनों बहनें उसे ढूंढने निकलीं। भालू को ढूंढते हुए वे एक गुफा में आ गई, जिसमें खज़ाना छुपा हुआ था।

अचानक एक बौना आया और उसने दोनों बहनों पर जादुई छड़ी से हमला किया। तभी, उनके बीच में भालू आ गया और एक सुंदर राजकुमार में बदल गया। उसने बौने को मार भगाया।

राजकुमार ने बताया-"इसी बौने ने मुझे भालू बना दिया था और हमारा खज़ाना चुरा लिया था। मेरा एक छोटा भाई भी है।" अंत में राजकुमार और उसके भाई ने उन दोनों बहनों से विवाह कर लिया।
Related:-


7. बहादुर राजकुमार अमर सिंह Jungle Ki Kahani


Jungle Ki Kahani

बहुत पहले की बात है, एक राजा का अमर सिंह नामक एक बहादुर बेटा था। एक दिन राजा को विदेश जाना पड़ा। जाने से पहले उसने अपने बेटे को चाबियों का एक गुच्छा देते हुए कहा-"बेटे, जो दरवाज़ा सुनहरी चाबियों से मिलता है,

उसे मत खोलना।" उत्सुक राजकुमार ने वह दरवाज़ा खोल दिया और उसके अंदर चला गया। वहाँ खिड़की से उसने एक किले के ऊपर, एक सुंदर राजकुमारी को देखा और वह उसे पसन्द करने लगा।

जब राजा को यह पता चला तो उसने राजकुमार को चेतावनी देते हुए कहा-"वहाँ जाने में बहुत ख़तरा है।" लेकिन अमरसिंह खतरों से नहीं डरता था। वह उनका सामना करने को तैयार था। यह देख राजा ने उसे एक जादुई अंगूठी दी।

जादुई अंगूठी की मदद से अमर सिंह ने सभी ख़तरों का सामना किया और राजकुमारी के पास पहुँच गया। जब राजकुमारी ने उसे देखा तो वह भी उसे पसन्द करने लगी।

दोनों ने मिलकर हर मुश्किल का सामना किया और सुरक्षित किले से बाहर आ गए। राजा दोनों को देखकर खुश हुआ और उनका विवाह कर दिया।

8. चतुर अंगूठा Story In Hindi Jungle Ki kahani


Story In Hindi Jungle Ki kahani

एक बार, एक गरीब लकड़हारा अपनी पत्नी के साथ रहता था। उनकी कोई औलाद नहीं थी। एक दिन उसने अपनी पत्नी से कहा-"काश! हमारा एक बेटा होता। चाहे वह एक अंगूठे जितना ही लम्बा होता।"

भगवान ने उसकी सुन ली। उसका एक बेटा हुआ परंतु वह अंगूठे के बराबर ही था। उन्होंने उसका नाम अंगूठा ही रख दिया। अंगूठा बड़ा होकर एक चतुर लड़का बना परंतु उसकी लम्बाई नहीं बढ़ी।

उसके पिता एक घोड़ा गाड़ी भी चलाते थे। अंगूठा घोड़े के कान के पास बैठकर उसे रास्ता बताता था। एक सर्कस के मालिक ने अंगूठे को देखा तो वह उसे खरीदने के लिए आया।

खुद को बेचने के लिए, अंगूठे ने अपने माता-पिता को राजी कर लिया। वह जानता था उन्हें पैसे की ज़रूरत थी। उसने कहा-"आप घबराओ नहीं, मैं जल्द ही वापस आ जाऊँगा।"

आख़िरकार उसे बेच दिया गया। एक दिन मौका पाते ही वह सर्कस से भाग निकला। छोटा होने के कारण वह पकड़ा नहीं जा सका और अपने घर पहुँच गया।

9. कुत्ता और मुर्गा Jungle Ki Kahani Story


Jungle Ki Kahani Story

एक बार एक मुर्गा जंगल में जा रहा था। रास्ते में उसे एक कुत्ता मिला। वे दोनों अच्छे दोस्त बन गए। दोनों ने एक साथ यात्रा करने का फैसला किया। वे लगातार रात होने तक चलते रहे।

रात में मुर्गा पेड़ के ऊपर और कुत्ता पेड़ के नीचे सो गया। मुर्गा सुबह उठकर बाँग देने लगा। एक लोमड़ी ने उसकी बाँग सुनी तो वह वहाँ आ गई और बोली-"प्यारे मुर्गे! तुम तो बहुत अच्छा गाते हो।

नीचे आओ, मैं तुम्हें बधाई देना चाहती हूँ।" मुर्गे ने कहा-" मुझे माफ करो, मैं नहीं आ सकता। इस होटल का दरबान सो रहा है। जब तक वह नहीं उठेगा, मैं नीचे नहीं आ सकता।"

दुष्ट लोमड़ी ने कहा- "मैं उसे अभी जगा देती हूँ।" तभी कुत्ता जाग गया और लोमड़ी को वहाँ पर देखकर ज़ोर-ज़ोर से उस पर भौंकने लगा। यह देखकर लोमड़ी डरकर वहाँ से भाग गई। कुत्ते और मुर्गे ने फिर से अपनी यात्रा शुरू की और वहाँ से चल दिये।

10. दो कुत्ते Jungle Ki Kahani


Jungle Ki Kahani

एक आदमी के पास दो कुत्ते थे। एक कुत्ते को उसने शिकार करना और दूसरे कुत्ते को घर की रखवाली करना सिखाया, परंतु एक अजीब बात थी। जब भी शिकारी कुत्ता किसी खास जानवर का शिकार करता,

तो उसका मांस रखवाली करने वाले कुत्ते को ही दिया जाता। धीरे-धीरे, शिकारी कुत्ता उसे जलने लगा। एक दिन जब मालिक घर पर नहीं था, तब शिकारी कुत्ता रखवाली करने वाले कुत्ते पर गुर्राया और बोला,

"मालिक मेरे साथ भेदभाव करते हैं। मैं सारा दिन मेहनत करता हूँ और तुम्हें बैठे-बैठे स्वादिष्ट भोजन मिलता है, यह तो ठीक नहीं है।" इस पर रखवाली करने वाले कुत्ते ने कहा-"यह तो मालिक की मर्जी है।"

मैं घर की रखवाली करता हूँ, इसलिए मैं मालिक के लिए खास हूँ। तुम तो सिर्फ शिकार करने ही जाते हो, लेकिन जब यहाँ कोई नहीं होता तब मैं ही घर की रखवाली करता हूँ। यह सुनकर शिकार करने वाला कुत्ता चुप हो गया और अपनी जगह पर जाकर बैठ गया।

Also Read:-

      Thank you for reading Top 11 Kids Jungle Ki Kahani which really helps you to learn many things of life which are important for nowadays these Jungle Ki Kahani are very helping full for children who are under 13. If you want more stories then you click on the above links which are also very interesting.

      Post a Comment

      0 Comments