Top 10 Story in Hindi with Images for Kids 2020 हिंदी में

The story in Hindi with Images:- Here I'm sharing with you the top 10 Story in Hindi with Images for kids which is really amazing and awesome these Story in Hindi with Images will teach you lots of things and gives you an awesome experience. You can share with your friends and family and these moral Hindi stories will be very useful for your children or younger siblings.

Top 10 Story in Hindi with Images for Kids

10 The story in Hindi with Images for Kids


टोपी बेचने वाला और बंदर Interesting Story in Hindi with Images


Interesting Story in Hindi with Images

एक बार एक गाँव में एक टोपी बेचने वाला रहता था। एक दिन पास के गाँव में उसने बहुत-सी टोपियाँ बेचीं। वह बहुत थक गया था। इसलिए उसने एक पेड़ के नीचे आराम करने का फैसला किया।

उसने अपना टोपियों का थैला नीचे रखा और सो गया। एक घंटे बाद, वह उठा तो उसने देखा कि उसकी टोपियाँ गायब थीं। उसने परेशान होकर इधर-उधर देखा।

अचानक, उसकी नजर पेड़ पर बैठे हुए बंदरों पर पड़ी। बंदरों ने उसकी रंग-बिरंगी टोपियाँ पहनी हुई थी। यह देखकर टोपी वाला चिल्लाया-"मेरी टोपियाँ मुझे वापस करो।"

लेकिन बंदरों पर कोई असर नहीं पड़ा। तब टोपी वाला ज़ोर से ताली बजाने लगा। उसे देखकर बंदर उसकी नकल उतारने लगे।

अब टोपी वाले ने अपनी टोपी उतारी और नीचे फेंक दी। मूर्ख, नकलची बंदरों ने भी अपनी टोपियाँ उतार कर नीचे फेंक दीं। टोपी वाले ने जल्दी से अपनी टोपियाँ उठाई और वहाँ से भाग गया।

घमंडी गुलाब New Story in Hindi with Images


New Story in Hindi with Images

एक बार एक गुलाब एक अंधेरे कमरे में रहता था। उसे अपनी सुंदरता पर बहुत घमंड था। एक दिन किसी ने उसके दरवाज़े पर दस्तक दी। गुलाब ने पूछा-" कौन है?"

बाहर से जवाब आया-" मैं बारिश की बूंद हूँ। कृप्या मुझे अंदर आने दो।" "मुझे माफ करो। मुझे तुम्हारी जरूरत नहीं है। तुम वापस जा सकती हो।"-गुलाब ने कहा।

बारिश की बूंद वहाँ से चली गई। इसी तरह एक दिन सूरज की किरण ने उसका दरवाज़ा खटखटाया। गुलाब ने उसे भी अंदर नहीं आने दिया। सूरज की किरण भी वहाँ से चली गई।

कुछ दिनों बाद, गुलाब का पौधा मुरझाने लगा। उसके पत्ते भूरे होने लगे। बसंत का मौसम आया और चिड़िया चहचहाने लगीं। गुलाब को अपने व्यवहार का बहुत अफसोस था।

एक दिन, फिर से बारिश की बूंद और सूरज की किरण उसके पास आए। इस बार गुलाब ने उनका बहुत स्वागत किया। कुछ दिनों में, उसके पत्ते फिर से हरे-भरे हो गए और वह पहले की तरह सुंदर हो गया।

सीप का घमंड Latest Story in Hindi with Images


Latest Story in Hindi with Images

एक बार समुद्र में अपने खोल के अंदर एक सांप रहता था। उसे अपने आप पर बहुत घमंड था। उसे लगता था वह संसार का सबसे महत्वपूर्ण जीव था।

एक दिन समुद्र की एक लहर ने उसे तट पर फेंक दिया। एक कौए ने उसे देखा तो उसके पास आकर बोला-"इस खोल के अंदर कौन है? बाहर आओ। मुझे तुम्हारा चेहरा देखना है।"

लेकिन सांप ने उसे बुरी तरह डांट कर कहा-“वह! तुम कितने बदसूरत हो। तुम तो बस यहाँ से चले जाओ। मैं मोती बनाने वाला एक सीप हूँ।

मेरा और तुम्हारा क्या मुकाबला। मैं तुम्हारे लिए दरवाजा नहीं खोलने वाला।" यह सुनकर कौए को गुस्सा आ गया। वह सांप को अपनी चोंच में उठा कर आकाश में उड़ गया।

ऊँचाई पर पहुँचकर उसने सीप को नीचे फेंक दिया। सीप के टुकड़े-टुकड़े हो गए और वह कुछ नहीं कर सका।

टोनी की बतखें Amazing Hindi Story with Images


Amazing Hindi Story with Images

बहुत पहले टोनी नाम का एक लड़का था। उसकी बहुत सारी पालतू बतखें थीं। कुछ बतखें भूरी थीं, कुछ काली थीं, कुछ सफेद थीं और कुछ धारियों वाली थीं।

टोनी के दो नौकर थे। हर सुबह वह और उसके नौकर ट्रक में जाकर स्कूलों, होटलों में बतख और अंडे सप्लाई करते थे। एक दिन, टोनी ने एक स्कूल के सामने अपना ट्रक रोका।

हैरी नाम का लड़का उसे देख रहा था। हैरी एक बहुत शरारती बच्चा था। उसने ट्रक के पीछे का दरवाज़ा खोल दिया। सारी बतखें बाहर निकल कर स्कूल में जाने लगीं।

थोड़ी ही देर में सारा स्कूल बतखों और बतखों की आवाज़ों से भर गया। सभी बच्चे अपनी कक्षाओं से बाहर निकल गए और मैदान में जमा हो गए। टोनी ने जब शोर सुना तो वह दौड़कर मैदान में आ गया।

उसने बतख की आवाज़ निकाली और कहा-"वापस आओ।" सभी बतखें उसके पास वापस आ गईं। उसने सभी बत्तखों को ट्रक में डाला और दरवाज़ा बंद करके वहाँ से चल दिया।

जानकी और उसके दोस्त Unique Story in Hindi with Images


Unique Story in Hindi with Images

जानकी एक बहुत ही प्यारी लड़की थी। लेकिन वह हमेशा उदास रहती थी, क्योंकि उसका कोई भाई, बहन या दोस्त नहीं था। एक दिन उसकी माँ उसके लिए एक नया वॉल-पेपर लेकर आई, जिसमें बहुत से जानवर बने हुए थे।

अब हर दिन जानकी सोने से पहले जानवरों को गिनती थी। जानवरों को गिनना उसे बहुत अच्छा लगता था। एक रात जब वह जानवरों को गिन रही थी, उसने रोने की आवाज़ सुनी।

उसने खिड़की से देखा, एक भालू का बच्चा रो रहा था। वह बाहर गई और उससे पूछा- "तुम क्यों रो रहे हो?" "मैं अपने घर का रास्ता भूल गया हूँ।"-भालू ने जवाब दिया।

जानकी ने कहा- "अंदर आ जाओ और आज रात यहीं रहो। वॉल-पेपर के जानवरों को गिनने में तुम मेरी मदद कर सकते हो।" भालू अंदर आ गया और दोनों ने जानवरों को गिना।

अगले दिन भालू ने कहा-"मैं अपने सभी दोस्तों को तुम्हारे वॉल-पेपर के बारे में बताऊँगा।" अब जानवर रोज़ जानकी से मिलने आने लगे। अब जानकी अकेली नहीं थी।

छोटे इंजन की परेशानी for Kids Story in Hindi with Images


for Kids Story in Hindi with Images

एक बार एक छोटा भाप से चलने वाला इंजन था। एक दिन वह एक ट्रेन को लेकर जा रहा था। उसके बड़े पहिए लोहे की पटरी पर दौड़ रहे थे। दौड़ते हुए वह एक बड़ी पहाड़ी के पास पहुँचा।

वह बहुत थक चुका था। उसने सोचा-"ओह! अब मुझे इस ऊँची पहाड़ी पर चढ़ना पड़ेगा।" उसने अपनी पूरी ताकत लगाई परंतु वह उस बड़ी पहाड़ी के ऊपर ट्रेन को न खींच सका।

उसने मदद के लिए इधर-उधर देखा। पास में ही एक और भाप से चलने वाला इंजन खड़ा था। उसने उससे पूछा-"क्या तुम मेरी मदद करोगे?" उस इंजन ने मदद करने से मना कर दिया।

तभी एक बड़ा इंजन उसके पास आकर रुका। उसको परेशान देख, वह उसकी मदद करने को तैयार हो गया। बड़ा इंजन उस छोटे इंजन के पीछे खड़ा हो गया।

दोनों गाने लगे-"हम कर सकते हैं, हम कर लेंगे।" दोनों ने मिलकर ट्रेन को पहाड़ी के ऊपर खींच लिया। छोटे इंजन ने बड़े इंजन को धन्यवाद किया। अब छोटे इंजन ने बिना किसी मदद के अपने आप चलना शुरू कर दिया।

खिलौने का बक्सा Story of Children in Hindi With Images


Story of Children in Hindi With Images

मदन और रानी भाई-बहन थे। उनके पास एक बहुत बड़ा खिलौने का बक्सा था। इसमें कई तरह के खिलौने, जैसे-गुड़िया, टेडी-भालू, कूदने वाली रस्सी, डिंकी-कारें आदि भरे हुए थे।

मदन और रानी का कमरा बहुत अच्छा था। पर खिलौनों को उस अंधेरे बक्से में रहना अच्छा नहीं लगता था। डिंकी कार कहती-"हमें अंधेरे कमरे में रखा जाता है।"

"यहाँ मैं अपने पैर भी नहीं फैला सकती।"-गुड़िया ने कहा। "मेरी रस्सी भी उलझ जाती हैं।"-कूदने वाली रस्सी ने कहा। टैडी-भालू सब सुन रहा था। उसने कहा-"हमें इस बक्से का ढक्कन खोलने की कोशिश करनी चाहिए।"

उन्होंने कोशिश की परंतु सफल नहीं हुए। एक दिन, बच्चों के पिता अपने औज़ारों के बक्से को साफ कर रहे थे। उनके औज़ार इधर-उधर पड़े हुए थे। उनको अपने औज़ारों के लिए एक बड़े बक्से की ज़रूरत थी।

उन्होंने बच्चों से पूछा-"क्या तुम मेरे छोटे बक्से लेकर मुझे अपना बड़ा बक्सा दे दोगे?" बच्चे खुशी से मान गए। अब खिलौने अलग-अलग बक्सों में डाल दिए गए। खिलौने भी अब खुश थे।

बहादुर शेख Story in Hindi with Picture for Students


Story in Hindi with Picture for Students

शेरू बहादुरगढ़ का एक बहादुर और ईमानदार कुत्ता था। वह बहुत मेहनती था और अपराधी उससे बहुत डरते थे। उसने कई अपराधियों को रंगे हाथों पकड़ा था। बहादुरगढ़ में बहुत तितलियाँ थीं।

वे तितलियाँ शेरू को बहुत पसंद करती थीं। शेरू भी तितलियों को बहुत पसंद करता था। जहाँ भी शेरू जाता था, तितलियाँ उसके पीछे जाती थीं।

बहादुरगढ़ के निवासियों ने पुलिस से शेरू की शिकायत करते हुए कहा-"उसे नौकरी से निकाल दीजिए। हम इसके पीछे आने वाली पत्तियों से बहुत परेशान हो गए हैं।"

शेरू को नौकरी से निकाल दिया गया। शेरू के नौकरी से निकलते ही सारे अपराधी फिर से अपराध करने लगे। लोग परेशान हुए तो उन्होंने फिर से शेरू को रखने की बात कही।

उन्होंने कहा-"हम तितलियों को बर्दाश्त कर सकते हैं, परंतु अपराधियों को नहीं।" शेरू फिर से नौकरी पर वापस आ गया और अपराधियों को फिर से भागना पड़ा। शेरू अब खुश था क्योंकि अब कोई भी तितलियों की शिकायत करने नहीं आता था।

मच्छर और बैल Animals Story in Hindi with Images


Animals Story in Hindi with Images

एक बार एक जंगल में एक ताकतवर बैल रहता था। एक दिन वह घास चर रहा था, एक मच्छर आया और उनके सींगों पर बैठ गया। कुछ घंटों तक वह वहीं बैठा रहा।

उसे वहां बैठने से बहुत आराम मिल रहा था। काफी समय आराम करने के बाद उसने अपने घर जाना चाहा। उड़ने से पहले उसने बैल से कहा-" दोस्त, अगर मैं यहाँ से चला जाऊँ, तो तुम्हें बुरा तो नहीं लगेगा?"

बैल को मच्छर के वहाँ होने का पता ही नहीं था उसने उसे देखा और बोला- "किसको परवाह है? मुझे तुम्हारे आने और जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता।

मुझे पता भी नहीं तुम कब आए और तुम्हारे जाने से मैं क्यों परेशान होने लगा?" यही सच है। जो किसी भी काम का नहीं होता, उसके होने से या न होने का किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता।

मूर्ख शेर और चालाक किसान Lion Story in Hindi with Images


Lion Story in Hindi with Images

एक बार एक शेर को किसान की बेटी से प्यार हो गया। उसने किसान से कहा कि वह उसकी बेटी से शादी करना चाहता है। किसान डर गया क्योंकि शेर एक खतरनाक जानवर था।

वह शेर को मना नहीं कर सका क्योंकि उसके जीवन को खतरा था। उसने एक उपाय सोचा। किसान शेर के पास गया और बोला-"मैं अपनी बेटी की शादी तुमसे कर दूंगा,

अगर तुम मुझे अपने दाँत निकालने दो और अपने नाखून काटने दो। मेरी बेटी इनसे बहुत डरती है।" शेर लड़की से बहुत प्यार करता था, इसलिए किसान ने जो कहा उसने मान लिया।

किसान ने उसके दाँत निकाल लिए और नाखून काट लिए। जब शेर ने द्वारा शादी की बात कही, तो किसान ने उसकी जमकर पिटाई की क्योंकि अब शेर उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता था। शेर जंगल में भाग गया और फिर कभी नहीं लौटा।
Also Read:-

Thank you for reading Top 10 Story in Hindi with Images for kids which really helps you to learn many things of life which are important for nowadays these Story in Hindi with Images are very helping full for children those who are under 13. If you want more stories then you click on the above links which are also very interesting.

Post a Comment

0 Comments