Top 10 Best Latest Hindi Story हिंदी में कहानी 2020

Latest Hindi Story:- Here I'm sharing with you the top 10 Latest Hindi Story which is really amazing and awesome these Latest Hindi Story will teach you lots of things and gives you an awesome experience. You can share with your friends and family and these moral Hindi stories will be very useful for your children or younger siblings.

Top 10 Best Latest Hindi Story

Best Latest Hindi Story हिंदी में


बेवकूफ कुत्ते new latest Hindi story


बेवकूफ कुत्ते new latest Hindi story

एक गड़रिया था। उसके पास बहुत सारी भेड़ें थीं। उसने भेड़ों की रक्षा के लिए दो खूंखार कुत्ते पाल रखे थे। वह कुत्ते सावधानीपूर्वक भेड़ों की रखवाली करते थे।

 एक रात, एक भेड़िया भेड़ों के बाड़े के चारों तरफ चक्कर लगा रहा था। कुत्तों ने उसे देख लिया और उस पर जोर-जोर से भौंकने लगे। यह देखकर भेड़िए ने कुत्तों को भेड़ों से दूर करने की एक योजना बनाई।

 योजना के मुताबिक वह कुत्तों से दोस्ती करने की कोशिश करने लगा। भेड़िया बोला, "प्रिय मित्र, क्यों तुम इतनी कठिन जिंदगी व्यतीत कर रहे हो? बाड़े के बाहर आओ और मेरी तरह आजादी का आनंद लो।"

 कुत्तों को भेड़िए की बात बड़ी पसंद आई और वे बाड़े से बाहर आ गए। अपनी योजना को सफल होते देख भेड़िया अत्यधिक खुश हुआ। वह उन्हें अपनी गुफा में लेकर गया।

 वहाँ पर अन्य भेड़ियों ने उन कुत्तों पर हमला करके उन्हें मार दिया। उसके बाद सभी भेड़िए भेड़ों के खाने के लिए बाड़े में घुस गए। इस प्रकार, उन बेवकूफ कुत्तों ने अपनी जिंदगी तो गँवाई ही, अपने मालिक का भी भारी नुक्सान करवाया।

नीता की गुड़िया awesome latest Hindi story


नीता की गुड़िया awesome latest Hindi story

नीता एक एक प्यारी-सी पर लापरवाह लड़की थी। अपनी लापरवाही के चलते वह अपनी वस्तुएँ खो देती थी। नीता के पिताजी अक्सर उससे कहते, "नीता, तुम्हें लापरवाह नहीं होना चाहिए।

 इतनी लापरवाही अच्छी नहीं होती। तुम्हें वस्तुओं का मोल समझना चाहिए और उन्हें सावधानीपूर्वक संभालकर रखना चाहिए।" एक दिन नीता के पिताजी उसके लिए सुंदर-सी गुड़िया खरीदकर लाए।

 उसे अपनी गुड़िया से बहुत अधिक प्यार था। वह हमेशा उस गुड़िया को अपने पास रखती थी। कुछ दिनों बाद, उसने गुड़िया को एक अलमारी में रख दिया।

 एक दिन नीता के पिता बोले, "नीता बेटा आओ, मैं तुम्हें बाहर घुमाने ले जाता हूँ।" वह दौड़कर अपने कमरे में गई और कुछ देर बाद अपनी गुड़िया के साथ लौट आई।

 उसके पिताजी बोले, "तुमने गुड़िया को साथ में क्यों ले लिया?" वह बोली, "यदि मैंने अपनी गुड़िया यहाँ छोड़ी तो यह खो जाएगी। लेकिन अगर मैं इसे सभी जगह साथ लेकर जाऊँगी तो मैं इसे कभी नहीं खोऊँगी।" नीता की नासमझी भरी बातें सुनकर उसके पापा हँस पड़े।

लालची व्यक्ति amazing latest Hindi story


लालची व्यक्ति amazing latest Hindi story

एक बार एक धनी किंतु लालची व्यक्ति बीमार पड़ गया। बहुत से वैद्यों ने उसका इलाज किया लेकिन कोई भी उसकी बीमारी को ठीक नहीं कर सका। तब उस बीमार व्यक्ति ने भगवान से प्रार्थना की, "हे भगवान! मुझे बचा लो।

 यदि मैं ठीक हो गया तो सौ बैलों की बलि चढ़ाऊँगा।" भगवान ने उसकी प्रार्थना सुन ली और उसे स्वस्थ कर दिया। स्वस्थ होने के बाद वह पैसा खर्च नहीं करना चाहता था।

 इसलिए वह सौ बैलों की छोटी-छोटी मूर्तियाँ बनवा के मंदिर ले गया और भगवान को अर्पित करते हुए बोला,"हे भगवान! धन्यवाद स्वरूप मेरा ये उपहार स्वीकार करें।" 

अब भगवान को उस पर बड़ा गुस्सा आया कि इस व्यक्ति ने जिंदा बैल चढ़ाने का वादा किया था और अब ये अपना वादा तोड़ रहा है। 

इसलिए भगवान ने उसको सजा देने का निर्णय करते हुए कहा,"समुद्र तट पर जाओ, वहाँ पर तुम्हें सोने की मोहरें मिलेंगी।" लालची व्यक्ति ने तुरंत वहाँ जाकर मोहरें प्राप्त कर लीं। लेकिन वहाँ कुछ समुद्री डाकू भी थे।

 वे उस लालची व्यक्ति को बंदी बनाकर ले गए और उसे सौ स्वर्ण मुद्राओं के बदले सेवक के रूप में बेच दिया।

बिल्ली की आदत animal latest Hindi story


बिल्ली की आदत animal latest Hindi story

एक दिन एक बिल्ली को एक युवक से प्रेम हो गया। वह उससे शादी करना चाहती थी। लेकिन एक बिल्ली होने के कारण वह एक मानव से शादी नहीं कर सकती थी।

 इसलिए उसने भगवान से प्रार्थना की, "भगवान, मुझे एक लड़की बना दो जिससे मैं उस सुंदर युवक से शादी कर सकूँ।" भगवान ने उसकी प्रार्थना स्वीकार करते हुए उसे एक सुंदर लड़की में परिवर्तित कर दिया।

 लड़की ने युवक से प्रेम निवेदन करते हुए विवाह का प्रस्ताव रखा। जल्दी ही दोनों ने शादी कर ली। अगले दिन वे दोनों अपने कमरे में बैठे हुए थे।

 यह देखकर भगवान ने सोचा, 'जरा देखू कि लड़की में परिवर्तित होने के बाद बिल्ली ने अपनी आदतें बदली हैं या नहीं।' यह सोचकर भगवान ने उनके कमरे में एक चूहा भेज दिया।

 लड़की तुरंत उसे पकड़ने दौड़ी। यह देखकर भगवान ने उसे लड़की से पुन: बिल्ली बना दिया और सोचने लगे, 'मैं तो भूल ही गया था कि किसी का शरीर और कपड़े बदलने से उसकी आदतें कभी बदलतीं।'

बेवकूफ शेर Lion latest Hindi story


बेवकूफ शेर Lion latest Hindi story

एक लकड़हारा अपनी बेटी गीता के साथ जंगल के पास ही एक छोटी-सी झोंपड़ी में रहता था। एक दिन पास के जंगल में रहने वाले एक शेर ने गीता को देखा।

 वह उसकी सुंदरता पर मोहित हो गया और उसे अपनी पत्नी बनाने की सोचने लगा। यह विचार कर वह लकड़हारे की झोंपड़ी पर गया और गर्जन करते हुए बोला, "ओ लकड़हारे, मैं तेरी बेटी के साथ शादी करना चाहता हूँ।

 यदि तूने उसकी शादी मुझसे नहीं की, तो मैं तुम दोनों को मारकर खा जाऊँगा।" शेर की बातें सुनकर लकड़हारे ने एक योजना बनाई और बोला, "मैं अभी अपनी बेटी से पूछकर आता हूँ।"

 वह झोंपड़ी के अन्दर गया और कुछ समय बाद लौट आया। बाहर आकर वह शेर से बोला, "गीता तुम्हारे नुकीले दाँत और पंजों से डरती है। उसने कहा है, यदि तुम उन्हें उखड़वा लोगे तो वह तुमसे शादी कर लेगी।"

 शेर ने अपने दाँत और पंजों को निकलवा दिया। अब वह पंजे और दाँतों के बिना पहले की तरह खतरनाक नहीं रह गया था। 

अब लकड़हारे को शेर से कोई डर नहीं था। उसने शेर पर डंडे से जोर-जोर से प्रहार करना शुरू कर दिया। शेर किसी तरह अपनी जान बचाकर वहाँ से भाग खड़ा हुआ।

धूर्त भेड़िया in Hindi latest story


धूर्त भेड़िया in Hindi latest story

एक गड़रिया रोज अपनी भेड़ों को दरगाह में चराने के लिए ले जाता था। एक भेड़िए की नजर उसकी भेड़ों पर थी। वह उन्हें खाना चाहता था। इसलिए उसने एक योजना बनाई।

 वह गड़रिए के पास गया और बड़ी ही मधुर आवाज में उससे बात करने लगा। गड़रिया जानता था कि भेड़िया बहुत ही धूर्त है। इसलिए वह और भी अधिक सचेत हो गया।

 लेकिन धूर्त भेड़िए ने धीरे-धीरे उसे विश्वास में ले लिया और जल्दी ही वे दोनों दोस्त बन गए। धीरे-धीरे गड़रिए को भेड़िए पर पूरा विश्वास हो गया। एक दिन गड़रिए को दूसरे गाँव जाना था।

 इसलिए वह भेड़ों को अपने दोस्त भेड़िए की निगरानी में छोड़कर चला गया। अब तो जैसे भेड़िए को मुँह माँगी मुराद मिल गई। वह कब से इसी समय का इंतजार कर रहा था।

 जैसे ही गड़रिया वहाँ से गया, भेड़िए ने भेड़ों पर झपट्टा मारा और उन्हें मारकर खा गया। जब गड़रिया लौटकर आया तो उसने देखा कि दुष्ट भेड़िया उसकी अधिकतर भेड़ों को मारकर खा गया था। अब वह भेड़िए पर विश्वास करने पर पछता रहा था।

बकरी की सलाह Unique latest Hindi story for kids


बकरी की सलाह Unique latest Hindi story for kids

एक व्यक्ति के पास एक गधा और एक बकरी थी। गधं का उपयोग बह सामान ढोने के लिए करता था। गधा पूरे दिन कठिन परिश्रम करता. इसलिए उसका मालिक गधे को बकरी से अधिक भोजन देता था।

 बकरी गधे से ईर्ष्या करती थी। वह चाहती थी कि किसी तरह से मालिक का लगाव गधे से कम हो जाए। उसने गधे को एक गलत सलाह देते हुए कहा, "तुम दिन मेहनत करते हो, जरा भी आराम नहीं करते हो।

 तुम बीमार होने का ढोंग करके बेहोश होकर गिर जाना। इस तरह तुम्हें कुछ दिनों के लिए आराम मिल जाएगा।" बकरी की सलाह मान गधे ने वैसा ही किया गधे की हालत देखकर उसके मालिक ने डॉक्टर को बुलाया।

 डॉक्टर वाला, "गधा को स्वस्थ करने के लिए बकरी के फेफड़ों का सूप देना आवश्यक है।" उस व्यक्ति ने बकरी को मारकर उसके फेफड़ों का सूप बनाया और वह सूप गधे को पिलाया।

गधा फौरन उठ खड़ा हुआ। इस प्रकार अपनी दुष्ट प्रवृत्ति के कारण बकरी बेवजह ही अकाल मृत्यु का शिकार बनी। इसलिए कहा गया है कि जैसी करनी वैसी भरनी।

भालू की दगाबाजी for children latest Hindi story


भालू की दगाबाजी for children latest Hindi story

एक दिन एक भेड़िया शेर को अपशब्द कहकर वहाँ से भाग गया। शेर को बहुत गुस्सा आया। वह चिड़िया को मारने के लिए उसका पीछा करने लगा। जब भेड़िया भाग रहा था, उसे रास्ते में एक परिचित भालू दिखाई दिया।

 वह बोला, "दोस्त! मुझे बचा लो। शेर मेरा पीछा कर रहा है। वह मुझे मारना चाहता है। क्या तुम मुझे कहीं छुपा सकते हो?"

भालू बोला,"मैं! अवश्य मेरे दोस्त। मेरी गुफा में आ जाओ।" भेड़िया उसकी गुफा में जाकर छुप गया। कुछ समय बाद शेर ने वहाँ आकर भालू से पूछा, "क्या तुमने यहाँ से किसी भेड़िए को जाते हुए देखा?"

 भालू बोला, "नहीं महाराज, मैंने नहीं देखा।" यह कहते हुए भालू ने शेर को अपनी गुफा के अंदर देखने का इशारा किया। लेकिन शेर उसका इशारा समझ नहीं पाया और वहाँ से चला गया।

 उसके बाद भेड़िया गुफा से बाहर आया। भालू बोला,"मेरे विचार से तुम्हें मुझे धन्यवाद बोलना चाहिए।" "धन्यवाद! किस बात के लिए?"

 भेड़िया गुस्से से बोला, "शेर से झूठ बोलते हुए मेरी तरफ इशारा करने के लिए!" यह कहकर भेड़िया वहाँ से चला गया।

वाणी की महत्ता with God latest Hindi story


वाणी की महत्ता with God latest Hindi story

ईश्वर ने पेड़-पौधे, पशु-पक्षी और मनुष्यों की रचना की। उन्होंने विभिन्न प्रकार के जीव-जन्तुओं को विभिन्न प्रकार की शक्तियाँ दीं। कुछ जानवरों को तेज दौड़ने की, कुछ को उड़ने की और कुछ को तैरने की।

 ईश्वर की सभी रचनाओं में मानव सबसे श्रेष्ठ रचना है। फिर भी मनुष्य ही सभी जीवों की तुलना में सबसे ज्यादा संतुष्ट है। एक दिन एक मानव ने ईश्वर से पूछा,

 "हे भगवान! आपने अन्य दूसरे जीव-जंतुओं को कुछ-न-कुछ विशिष्टता दी है। लेकिन मुझे कोई भी विशेषता क्यों नहीं दी?" मानव की बात सुनकर भगवान मुस्कराते हुए बोले, "प्रिय पुत्र, मैंने तुम्हें सबसे कीमती शक्ति दी है।

 ये शक्ति है बोलने की। तुम अपने भावों एवं ज्ञान को वाणी के माध्यम से व्यक्त कर सकने में सक्षम हो। अन्य किसी जीव के पास यह शक्ति नहीं है।

 ईश्वर की बात सुनकर मानव को अहसास हुआ कि भगवान ने उसे बोलने की महान शक्ति दी है, जो कि अन्य जीवों को नहीं मिली। वह समझ गया कि बेवजह अपने मन में असंतुष्टि के भाव नहीं पालने चाहिए।

ऊँट को यूँ मिला सबक हिंदी में latest कहानी


ऊँट को यूँ मिला सबक हिंदी में latest कहानी

किसी जंगल में एक ऊँट रहता था। उसकी एक बड़ी बुरी आदत थी। वह अपनी टीका-टिप्पणी से दूसरों को छेड़ा करता था।

 एक बार उसने गेंडे को छेड़ते हुए कहा, "अरे! तुम्हारा तो एक ही सींग है और वो भी तुम्हारी नाक के ऊपर, जबकि दूसरे जानवरों के तो सिर पर दो सींग होते हैं।"

 वह हाथी को छेड़ते हुए अक्सर कहता, "अरे! तुम्हारी तो दो-दो पूँछ हैं, एक आगे और एक पीछे।" इसी प्रकार वह सभी जानवरों पर टिप्पणी करता रहता, जिससे सभी जानवर अपमानित महसूस करते।

 एक दिन बंदर उस ऊँट को देखकर बोला, "और सुनाओ श्रीमान् ऊँट! तुम अपनी पीठ का कूबड़ लिए कहाँ फिर रहे हो? और तुम अपनी इतनी लंबी गर्दन से क्या करते हो?"

 बंदर के शब्द सुनकर ऊँट को बड़ा बुरा लगा। उसे समझ में आ गया कि जिस तरह बंदर की बात का उसे बुरा लगा है उसी प्रकार उसकी बातें सुनकर अन्य जानवरों को भी बुरा लगता होगा। यह सोचकर उसने उसी दिन से दूसरों का मजाक उड़ाना छोड़ दिया।
Thank you for reading Top 10 latest Hindi story which really helps you to learn many things of life which are important for nowadays this latest story in Hindi is very helping full for children those who are under 13. If you want more stories then you click on the below links which are also very interesting.

Post a Comment

0 Comments